हटाए जा सकते हैं प्रयागराज- बलिया के बीच गंगा नदी पर बने कुछ पीपे के पुल

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को स्टडी रिपोर्ट और प्लान बनाने का निर्देश दिया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को गंगा नदी पर प्रयागराज-वाराणसी-हल्दिया क्रूज मार्ग में प्रयागराज और बलिया के बीच पड़ने वाले पीपे के पुलों के बारे में अध्ययन कर यह जानकारी हासिल करने का निर्देश दिया है कि नदी पर कहां सेतु बनाए जाने से पीपे के पुल हटाये जा सकते हैं. उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में आबादी के घनत्व व अन्य मानकों का अध्ययन करते हुए पांच उन जिलों के बारे में रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है, जहां रोड नेटवर्क सबसे कम है.

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शुक्रवार को लोक निर्माण विभाग के कामकाज की समीक्षा के दौरान प्रयागराज में सीरसा के पास पुल बनाने की कार्ययोजना बनाने के लिए कहा, जिससे वहां पीपे के तीन पुल हट सकते हैं. उन्होंने कहा कि क्रूज मार्ग में पड़ने वाले कुछ पीपे के पुलों को हटाया नहीं जाएगा, बल्कि क्रूज के गुजरते समय एक विशेष प्रणाली से उन्हें घुमा दिया जाएगा. क्रूज गुजरने पर पुन: उसे प्रतिस्थापित कर दिया जाएगा. उन्होंने प्रयागराज से वाराणसी तक प्रस्तावित कांवड़ पथ बनाने के लिए लोक निर्माण और सिंचाई विभागों के अधिकारियों को प्लान बनाने का निर्देश दिया.

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि देश की रक्षा करते हुए शहीद होने वाले वीर जवानों के नाम से ‘जय हिंद वीर पथ’ योजना शुरू की जाएगी. उन्होंने डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम गौरव पथ योजना से संबंधित मेधावी छात्र/छात्राओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करने का निर्देश दिया. यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा कि प्रदेश में कोई विधानसभा या लोकसभा क्षेत्र स्टेट हाईवे से अछूता न रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: